'; } else { echo "Sorry! You are Blocked from seeing the Ads"; } ?>

Insurance Hindi Meaning | Insurance Kya Hota Hai?

अपने दोस्तों के साथ शेयर करें

Insurance Kya Hota Hai Meaning in Hindi? Insurance History, Health Insurance, Term Insurance, Life Insurance in Hindi?: आजकल बीमा शब्द का उच्चारण आम जीवन में देखने को बहुत ज्यादा मिलता है। पिछले कुछ सालों में बीमा कंपनियों की तादाद बहुत ही ज्यादा बढ़ी है. और बीमा खरीदने में भी लोगों ने इंटरेस्ट दिखाया है।

बीमा आमतौर पर बाइक या कार खरीदते समय हम सबसे पहले खरीदते हैं। और बीमा पॉलिसीज इसके बारे में हमको पूरी जानकारी भी नहीं होती। आज के इस आर्टिकल में बीमा से संबंधित विषय पर चर्चा करेंगे और हम जानेंगे कि बीमा क्या होता है। दरअसल बीमा शब्द हम सुनते तो सब ही हैं. मगर इसका सही अर्थ हमको शायद ही पता हो और इसकी नियम और शर्तें क्या-क्या होती हैं?

और कितने प्रकार का इंश्योरेंस होता है? यह सब हम इस आर्टिकल के अंतर्गत जाएंगे और चर्चा करेंगे कि बीमा की शुरुआत कैसे हुई और आज के युग में बीमा का क्या महत्व है। बीमा इंसानों के लिए ही नहीं जबकि कार मोटरसाइकिल जमीन खेती पशु जैसी चीजों पर भी किया जाता है। बाइक या कार का बीमा तो आप ने कराया ही होगा।

यदि आप बीमा कराते हैं तो एक्सीडेंट में होने वाले नुकसानो की जिम्मेदारी बीमा कंपनी की होती है. और आपको इसके लिए किसी प्रकार का कोई भी चार्ज नहीं देना पड़ता। यही सब शर्तें स्वास्थ्य बीमा के अंतर्गत भी हैं।

Insurance Kya Hota Hai Meaning in Hindi? Insurance History, Health Insurance, Term Insurance, Life Insurance in Hindi?

 

Insurance Meaning in Hindi

इंश्योरेंस को हिंदी में बीमा कहा जाता है। बीमा एक प्रकार का अनुबंध (कॉन्ट्रैक्ट) होता है। जो बीमा कंपनी और बीमित व्यक्ति के बीच में होता है। बीमा कराने के लिए व्यक्ति को कुछ धनराशि प्रीमियम के तौर पर बीमा कंपनी को देनी पड़ती है।

इसके बाद कुछ नियम और शर्तें तय की जाती है, और भविष्य में यदि इस दौरान बीमित व्यक्ति को किसी प्रकार की दुर्घटना का सामना करना पड़ता है. तो बीमा कंपनी उस को आर्थिक सहायता प्रदान करती है।

बीमा को साधारण तौर पर जोखिमों से बचाव के लिए एक अनुबंध कहा जाता है। आने वाले वक्त का कुछ पता नहीं चलता कि कल क्या हो जाए ऐसे में भविष्य सुरक्षा खतरे में ही रहती है कई बार हम ऐसी दुर्घटनाओं का सामना करते हैं. जिनकी वजह से हमें बहुत ही आर्थिक नुकसान उठाना पड़ता है।

कई बार तो इस प्रकार की दुर्घटनाएं सामने आती हैं कि हम को आर्थिक सहायता के लिए अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के सामने हाथ फैलाने पड़ते हैं। अक्सर कर घर के मुख्या ही बाहर भीतर आते जाते हैं। जिनको दुर्घटनाओं का सामना करना पड़ सकता है।

ऐसे में यदि घर का मुखिया और घर चलाने वाले के साथ कुछ अप्रिय घटना हो जाए.और उनका देहांत हो जाए तो भविष्य में उसके परिवार का क्या होगा? यदि उस व्यक्ति का बीमा है, तो बीमा कंपनी उसको एक विशेष बीमा पॉलिसी के अंतर्गत आर्थिक सहायता प्रदान करती है।

ताकि उसका परिवार उसके जाने के बाद भी सुरक्षित रहे और उस को आर्थिक सहायता मिलती रहे। इस प्रकार से बीमा आपके परिवार की सुरक्षा देता है और भविष्य में होने वाले जोखिम से आर्थिक सुरक्षा मुहैया कराता है। आइए जानते हैं, बीमा कितने प्रकार का होता है।

इसे भी पढ़े – Insurance Kya Hai (बीमा क्या है)? बीमा कितने प्रकार के होते हैं?

बीमा के प्रकार

1. स्वास्थ्य बीमा (life insurance)
2. साधारण बीमा (General insurance)

स्वास्थ्य बीमा (Life Insurance)

स्वास्थ्य बीमा एक कंपनी और व्यक्ति के बीच में होता है इसके लिए इच्छुक व्यक्ति को प्रीमियम के तौर पर कुछ राशि कंपनी को देता है। यदि बीमित व्यक्ति को किसी प्रकार की दुर्घटना में जोखिम उठाना पड़ता है. या फिर उसकी मृत्यु हो जाती है। तो इस स्थिति में बीमा कंपनी उनके लिए आर्थिक सहायता प्रदान करती है।

ताकि उसके जाने के बाद परिवार को आर्थिक सहायता मिलती रहे. और उनका परिवार उसके जाने के बाद भी सुरक्षित रह सके। याद रहे स्वास्थ्य बीमा एक निश्चित समय अवधि के लिए लिया जाता है।

बीमित व्यक्ति को लाभ तभी मिलते हैं, जब इस अवधि के दौरान उसको जोखिम उठाना पड़ा हो या उसकी मृत्यु हो गई हो। “Insurance Kya Hota Hai Meaning in Hindi? Insurance History, Health Insurance, Term Insurance, Life Insurance in Hindi?”

साधारण बीमा (General Insurance)

General Insurance (साधारण बीमा) में वाहनों का घर पशु फसल या फिर कोई अन्य चीज सभी प्रकार की चीजों के लिए बीमा किया जाता है साधारण बीमा की शर्तें बीमा वस्तु के आधार पर बदलती रहती हैं। वाहन इंश्योरेंस के अंतर्गत सभी प्रकार के वाहनों को बीमा दिया जाता है। और वाहनों का बीमा रखना भारत में अनिवार्य है।

यदि आपके पास वाहनों का बीमा नहीं है तो आपको कानूनी तौर पर सजा के साथ-साथ दंड भी देना पड़ सकता है। कभी ना कभी तो इंश्योरेंस ना होने की वजह से चालान कटने का डर आपको भी लगा ही होगा। इसके अंतर्गत स्वास्थ्य बीमा भी कराया जाता है।

जिसमें आपको भविष्य में होने वाली बीमारियों से सुरक्षा मिलती है। आप अपना इलाज इंश्योरेंस के अंतर्गत किस अस्पताल में करा सकते हैं। आप के इलाज में खर्च होने वाले पैसे बीमा कंपनी की तरफ से दिया जाएगा।

साधारण बीमा के अंतर्गत फसल बीमा भी कराया जाता है जिससे आप की फसल को होने वाले नुकसान के प्रति आप को सुरक्षा मुहैया कराई जाती है।

यदि आप की फसल ओलावृष्टि बाढ़ सूखा या फिर कीटनाशकों की वजह से खराब हो जाती है तो इसके लिए बीमा कंपनी आपको कवर प्रदान करती है ताकि आपके नुकसान की भरपाई हो सके। Insurance History, Health Insurance, Term Insurance, Life Insurance in Hindi?

इसे भी पढ़े – PhonePe Se Bike Insurance Kaise Kare | PhonePe Bike Insurance क्या है?

Insurance Kya Hota Hai

इंश्योरेंस बीमित व्यक्ति और बीमा कंपनी के बीच में एक प्रकार का कॉन्ट्रैक्ट होता है। जो एक फ्री में राशि का भुगतान करने के बाद मिलता है। यह कॉन्ट्रैक्ट एक नियमित समय के लिए होता है।

यदि इस समय के दौरान बीमित व्यक्ति को किसी प्रकार का नुकसान होता है. तो इस नुकसान की भरपाई बीमा कंपनी करती है। बीमा विभिन्न प्रकार की चीजों के लिए लिया जा सकता है। मुख्य रूप से साधारण बीमा और जीवन बीमा प्रमुख है। मगर इनके अंतर्गत फसल बीमा बिजनेस बीमा वाहन बीमा इत्यादि ले जाते हैं।

जिस क्षेत्र मैं आप काम कर रहे हैं, उसके लिए बीमा पॉलिसी अलग होती हैं. और नियम और शर्तें बीमा के आधार पर बदलती रहती हैं। इसलिए किसी भी बीमा पॉलिसी को खरीदने से पहले आप उसकी नियम और शर्तों को अच्छे से पढ़ ले। भारत में अनेकों बीमा कंपनियां लोगों को बीमा प्रदान कर रही हैं।

आप अपनी इच्छा अनुसार किसी भी बीमा कंपनी से बीमा पॉलिसी खरीद सकते हैं। बीमा को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्रकार से खरीदा जा सकता है। “Insurance Kya Hota Hai Meaning in Hindi? Insurance History, Health Insurance, Term Insurance, Life Insurance in Hindi?”

Insurance History

वैसे तो बीमा इतिहास का कोई लिखित वर्णन नहीं मिलता है मगर इसके साक्ष्य पुराने समय से मिले हैं। पहले जब कोई व्यक्ति अपंग हो जाता था या फिर किसी घटना से मर जाता था. तो उसके बाल बच्चों को ग्रामीण मदद प्रदान करते थे ताकि उनका घर चल सके।

रोम के लोग भी जीवन बीमा से परिचित हैं. और उनके यहां जीवन बीमा का चलन था। मगर आधुनिक बीमा का जन्म 1653 में हुआ। 1653 में लंदन के एक व्यक्ति विलियम गिब्बन का 1 साल का बीमा किया गया था। हालांकि माना जाता है बीमा की शुरुआत 3000 वर्ष ईसा पूर्व में हुई थी।

आधुनिक बीमा की शुरुआत 13वीं शताब्दी में हुई क्योंकि इस दौरान परिवहन के साधन समुद्री रास्तों से थे समुद्री रास्तों में दुर्घटनाओं की अनिश्चितता बहुत अधिक होती थी। तो लोग बीमा की ओर अग्रसर हुए। यदि परिवार का मुख्य यात्रा के दौरान मर जाता है, तो उसके परिवार के हितों के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाती थी। इस प्रकार से ही बीमा का विकास होता चला गया।

भारत में समुद्री बीमा और अग्नि बीमा की शुरुआत इंग्लैंड के पद चिन्हों पर हुई। सन 1818 में ओरिएंटल लाइफ इंश्योरेंस कंपनी की स्थापना ने भारत में बीमा की नींव रखी। बाद कई प्रकार की इंश्योरेंस कंपनियां सामने आई और अधिनियम बनाए गए। सन 1938 में बीमा अधिनियम को एक पूर्ण रूप दिया गया।

1956 में बीमा व्यवसाय को राष्ट्रीयकृत किया गया। और भारतीय जीवन निगम एलआईसी की स्थापना की गई। इस प्रकार से भारत में बीमा पॉलिसीज का उद्भव हुआ। “Insurance Kya Hota Hai Meaning in Hindi? Insurance History, Health Insurance, Term Insurance, Life Insurance in Hindi?”

इसे भी पढ़े – ACKO Mobile Insurance Kaise Kare? ACKO Mobile Insurance Kya Hai?

Health Insurance Hindi

हेल्थ इंश्योरेंस किसी बीमा कंपनी और बीमित व्यक्ति के बीच में एक ऐसा कॉन्ट्रैक्ट होता है, जिसके अंतर्गत बीमित व्यक्ति को किसी भी बीमारी के समय में आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। यदि बीमित व्यक्ति बीमार पड़ जाता है, तो इसके खर्च में लगने वाला पैसा बीमा कंपनी की ओर से दिया जाता है।

जब आप किसी बीमा कंपनी से बीमा लेते हैं, तो बीमा कंपनी आपके सभी प्रकार के मेडिकल खर्चे को भुगतान करती है। बदलती लाइफस्टाइल के कारण बहुत सी नई बीमारियां जन्म ले रही हैं। और महामारी के आने के पश्चात हेल्थ इंश्योरेंस की खरीदारी में बढोती हुई है।

बदलते मौसम के कारण और बढ़ती ग्लोबल वार्मिंग के कारण नई नई बीमारियां जन्म ले रही हैं। ऐसे में कुछ नहीं पता चलता कि कब कौन सी नई बीमारी बना पाए। कई बार ऐसा होता है की बीमारियों के चलते हमारी सारी सेविंग खत्म हो जाती हैं। ऐसे में हमारे भविष्य के प्लान और योजनाएं धरी की धरी रह जाती है। इसलिए हेल्थ इंश्योरेंस का महत्व और बढ़ जाता है।

क्योंकि किसी भी नई बीमारी के होने के पश्चात आपको किसी प्रकार की आर्थिक जोखिम नहीं उठाना पड़ता। इससे आपका भविष्य भी सुरक्षित रहता है और भविष्य में होने वाली बीमारियों से भी आर्थिक सुरक्षा प्राप्त होती है। Insurance History, Health Insurance, Term Insurance, Life Insurance in Hindi?

Term Insurance in Hindi

टर्म इंश्योरेन्स एक ऐसा इंश्योरेंस होता है जिसको बीमित व्यक्ति और बीमा कंपनी एक निश्चित समय अवधि के अनुबंध के तौर पर रहते हैं। इंश्योरेंस आपको एक निश्चित समय अवधि के लिए दिया जाता है। यदि इस दौरान आपको किसी प्रकार की क्षति होती है, तो इसकी भरपाई बीमा कंपनी के द्वारा की जाती है।

आमतौर पर स्वास्थ्य बीमा को लोग कुछ सालों के लिए खरीदते हैं। यदि कोई बीमा धारक 10 साल के लिए बीमा पॉलिसी खरीदता है, और इस दौरान उसको किसी प्रकार की स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें आती हैं. तो उनका मेडिकल खर्च बीमा कंपनी के द्वारा दिया जाता है। 10 साल होने के पश्चात बीमा धारक को अपनी पॉलिसी को दोबारा से रिन्यू कराना पड़ता है।

अन्यथा उसकी पॉलिसी खत्म हो जाती है। 10 साल के बाद उसको किसी प्रकार का लाभ बीमा पॉलिसी से नहीं मिलेगा। टर्म इंश्योरेन्स खरीदना आपके लिए फायदे में साबित होता है क्योंकि टर्म इंश्योरेंस की प्रीमियम राशि अन्य इंश्योरेंस के मुताबिक कम होती है। और कोरोना जैसी महामारी के दौरान टर्म इंश्योरेंस का खरीदना बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाता है।

यदि आप इसे नहीं खरीदते हैं, तो इस तरह से मानिए कि आप अपनों के साथ अन्याय कर रहे हैं। टर्म इंश्योरेन्स की कीमत आपकी आयु के आधार पर तय की जाती हैं यदि आपकी आयु कम है तो आपको टर्म इंश्योरेंस प्लान कम राशि में ही मिल जाता है यदि आप उसे जीवन के आखिरी हिस्से में लेते हैं तो आपको प्रीमियम राशि के लिए महंगे दामों पर पॉलिसी खरीदनी होगी। “Insurance Kya Hota Hai Meaning in Hindi? Insurance History, Health Insurance, Term Insurance, Life Insurance in Hindi?”

इसे भी पढ़े – SBI Sampoorna Suraksha in Hindi | SBI Life की खास पॉलिसी

Life Insurance in Hindi

लाइफ इंश्योरेंस एक ऐसा इंश्योरेंस है जिसके अंतर्गत बीमा कंपनी और बीमा धारक के बीच एक कॉन्ट्रैक्ट होता है। यदि बीमा धारक को किसी दुर्घटना में जान गंवानी पड़ती है या फिर किसी सड़क दुर्घटना में उनका एक्सीडेंट हो जाता है तो बीमा कंपनी उनके लिए कवर प्रदान करती है।

दुर्घटना की स्थिति में बीमित व्यक्ति का इलाज का खर्चा बीमा कंपनी की देती है। यदि दुर्घटना के दौरान बीमित व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है, तो नामांकित व्यक्तियों के लिए बीमा कंपनी की तरफ से क्लेम दिया जाता है। जीवन में अनिश्चितता की स्थिति बनी ही रहती है. और हमको आने वाले कल के बारे में कुछ पता नहीं होता।

ऐसे में लाइफ इंश्योरेंस का महत्व और बढ़ जाता है। क्योंकि हमारे जाने के पश्चात हमारे परिवार का रहन सहन पर प्रभाव पड़ सकते हैं। इसलिए अपने जाने के पश्चात भी अपने परिवार को सुरक्षित रखने के लिए लोग लाइफ इंश्योरेंस खरीदते हैं। लाइफ इंश्योरेंस खरीदने के लिए आपको प्रीमियम राशि के तौर पर कुछ पैसे देने होते हैं।

यह प्रीमियम राशि आप प्रति महीने या फिर एक साथ भी दे सकते हैं। दुर्घटना का क्लेम आपको किस्तों के रूप में मिलता है। ताकि आपका घर निरंतर रूप से चल सके और आपके जाने के पश्चात आपके परिवार पर किसी प्रकार की आर्थिक तंगी ना आए।

इसे भी पढ़े – Mintpro Insurance Kaise Kare | Mintpro Insurance Company List

Conclusion

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने इंश्योरेंस के बारे में बात की। आज हमने इंश्योरेंस के विभिन्न पहलुओं के बारे में विस्तारपूर्वक चर्चा की। जिसमें हमने मुख्य रूप से जाना कि insurance meaning in hindi. insurance kya hota hai. insurance history. health insurance hindi. term insurance in hindi. life insurance in hindi इत्यादि के बारे में।

आशा है आप इस आर्टिकल को महत्वपूर्ण पाएंगे। यदि आपका कोई साथी इंश्योरेंस लेने का मन बना रहा हो, तो आप उसे इस आर्टिकल को जरुर शेयर करें। ताकि उसे इंश्योरेंस से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी मिल जाए।

यदि आपको किसी प्रकार की इंश्योरेंस संबंधी सहायता चाहिए. तो आप हमें कमेंट सेक्शन में लिखकर बता सकते हैं। जिसका जल्दी ही जवाब दिया जाएगा। इसी प्रकार के अन्य महत्वपूर्ण इंश्योरेंस संबंधी जानकारियों के लिए आप हमारी वेबसाइट के होम पेज को विजिट कर सकते हैं। जहां पर आप को विभिन्न प्रकार के इंश्योरेंस के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई है।


अपने दोस्तों के साथ शेयर करें

Check Also

Policy Bazaar Bike Insurance Customer Care Number, Renewal, Download Online

Policy Bazaar Bike Insurance कैसे करें?

अपने दोस्तों के साथ शेयर करेंPolicy Bazaar Bike Insurance Customer Care Number, Renewal, Download Online: …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!